Population and Important Facts Related to Them YouTube Lecture Handouts

Glide to success with Doorsteptutor material for CTET-Hindi/Paper-2 : get questions, notes, tests, video lectures and more- for all subjects of CTET-Hindi/Paper-2.

जनसँख्या तथा उससे जुड़े महत्वपूर्ण तथ्य? India Population Census - TFR, CDR, CBR
  • भारत में पहली बार जनगणना कब हुयी – 1872
  • भारत में पहली बार जनगणना किस वायसराय के समय हुयी – लॉर्ड मेयो
  • भारत में नियमित जनगणना की शुरुवात किस वर्ष हुयी – 1881
  • भारत में नियमित जनगणना की शुरुवात किस वायसराय के काल में हुयी – लॉर्ड रिपन
  • विश्व जनसंख्या दिवस कब मनाया जाता है – 11 जुलाई
  • जनगणना 2011 देश की जनगणना है – 15 वीं (स्वतंत्र भारत की 7 वीं)
  • भारत की बढ़ती जनसँख्या का प्रमुख कारण क्या है – मृत्यु दर में कमी
  • किस वर्ष को भारतीय जनसँख्या के इतिहास में महा विभाजक वर्ष के रूप में जाना जाता है – 1921
  • किस वर्ष को भारतीय जनसँख्या के इतिहास में लघु विभाजक वर्ष के रूप में जाना जाता है – 1951

जनसँख्या से जुड़े तकनीकी तथ्य (Technical Facts About Population)

जनसंख्या के आंकड़ों का व्यवस्थित संकलन सबसे पहले 19वीं सदी के यूरोप में बड़े पैमाने पर शुरू किया गया था। माल्थस का सिद्धांत: थॉमस रॉबर्ट माल्थस (1766 - 1834) जनसंख्या के आंकड़ों का विश्लेषण करने वाले प्रमुख व्यक्ति थे। जनसंख्या पर उनका सूत्रीकरण जनसंख्या सिद्धांतों के इतिहास में एक मील का पत्थर था।

TFR (Total Fertility Rate)

  • कुल प्रजनन दर (टीएफआर) , जिसे कभी-कभी प्रजनन दर, पूर्ण/संभावित जन्म, अवधि कुल प्रजनन दर (पीटीएफआर) , या कुल अवधि प्रजनन दर (टीपीएफआर) भी कहा जाता है, पैदा होने वाले बच्चों की औसत संख्या है। अपने जीवनकाल में एक महिला के लिए।
  • संयुक्त राष्ट्र जनसंख्या प्रभाग के अनुसार, प्रति महिला लगभग 2.1 बच्चों की कुल प्रजनन दर (टीएफआर) को प्रतिस्थापन स्तर की प्रजनन क्षमता कहा जाता है। यदि प्रतिस्थापन स्तर की उर्वरता पर्याप्त रूप से लंबी अवधि तक बनी रहती है, तो प्रत्येक पीढ़ी बिल्कुल स्वयं को प्रतिस्थापित कर लेगी।

Manishika