स्वच्छ युग अभियान (Clean Era Campaign – Governance and Governance)

Doorsteptutor material for CTET-Hindi/Paper-1 is prepared by world's top subject experts: get questions, notes, tests, video lectures and more- for all subjects of CTET-Hindi/Paper-1.

• एक प्रयास के रूप में, गंगा के किनारे स्थित गांवों को खुले में शौच से मुक्त कराने के लिए सरकार ने एक अभियान ‘स्वच्छ युग’ शुरू किया है।

• यह नदी कि किनारे बसे गांवों में रह रहे लोगों के व्यवहार में परिवर्तन लाने के लिए तीन क्रेदीय मंत्रालयों का एक सहयोगात्मक प्रयास है।

• नदी के बहने वाले पांच राज्यों उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, बिहार, झारखंड तथा पश्चिम बंगाल के 52 जिलों की 1,651 ग्राम पंचायतों के अंतर्गत आने वाले गंगा नदी के किनारे स्थित 5169 गांव हैं।

• प्रत्येक जिले में एक नोडल अधिकारी की पहचान की जाएगी जो अपने अधिकार क्षेत्र में आने वाले क्षेत्र को खुले में शौच से मुक्त (ओडीएफ) करने और स्वच्छ कार्यों के लिए उचित ठोस और तरल अपशिष्ट प्रबंधन के माध्यम से “मिशन मोड” (नियोग, ढंग) आधार पर कार्य करेंगे।

• मौद्रिक प्रोत्साहनों के अतिरिक्त स्वच्छ भारत मिशन के तहत स्थानीय प्रशिक्षकों को आभासी कक्षाओं के नेटवर्क के माध्यम से अंतवैंयक्तिक व्यवहार परिवर्तन हेतु संचार कौशल का विकास करने के लिए व्यापक प्रशिक्षण दिया जाएगा।

अभियान में शामिल मंत्रालय

• पेयजल और स्वच्छता मंत्रालय-मिशन मोड रणनीति के दव्ारा उचित ठोस और तरल अपशिष्ट प्रबंधन के माध्यम से गांव की स्वच्छता पर ध्यान केंद्रित करना।

• युवा मामले और खेल मंत्रालय नेहरू युवा केंद्र संगठन के दव्ारा समन्वय के माध्यम से भारत स्काउट और गाइड, नेहरू युवाकेंद्र और राष्ट्रीय सेवा योजना जैसी युवाओं की संस्थाओं का सहयोग प्राप्त करना।

• जल संसाधन मंत्रालय, नदी विकास और गंगा पुनरोद्धार

Developed by: