‘बुल्टू रेडियो’ प्रयोग ( ‘Bultu Radio’ Experiment – Social Issues)

Get top class preparation for CTET-Hindi/Paper-1 right from your home: get questions, notes, tests, video lectures and more- for all subjects of CTET-Hindi/Paper-1.

• ‘बुल्टू रेडियो’ आदिवासियों दव्ारा छत्तीसगढ़ के माओवाद प्रभावित क्षेत्रों में सूचना साझा करने और शासन को बेहतर बनाने की लिए ब्लूटूथ तकनीक का उपयोग है। यहाँ आदिवासी ब्लूटूथ तकनीक का उपयोग कर ऑडियों और वीडियों फ़ाइलों को अपने मोबाइल फोन में बदली करते हैं। इस प्रौद्योगिकी ने शासन (गवर्नेंस) में भी एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

• स्थानीय लोगों की शिकायते उनकी स्थानीय भाषा में मौखिक रूप से मोबाइल फोन पर रिकॉर्ड (प्रमाणित) की जाती हैं। फिर सभी संदेशों को ब्लूटूथ के माध्यम से एक ही फोन में एकत्र करके ग्राम पंचायत कार्यालय में ले जाया जाता है।

इसके बाद इन संदेशों को इंटरनेट (आंतरिक जाल) के माध्यम से एक केंद्रीय कंप्यूटर में स्थानांतरित कर दिया जाता है, जहाँ इन संदेशों का हिन्दी और अंग्रेजी में अनुवाद किया जाता है। अब इन संदेशों को उपयुक्त अधिकारियों तक पहुँचा दिया जाता है और आदिवासियों से जुड़े मुद्दों का समाधान किया जाता है।

Developed by: