ऑस्ट्रेलिया का भूगोल (Geography of Australia) Part 2 for Arunachal Pradesh PSC

Get unlimited access to the best preparation resource for UGC : Get detailed illustrated notes covering entire syllabus: point-by-point for high retention.

Download PDF of This Page (Size: 153K)

धरातल

इस महादव्ीप के भौगोलिक क्षेत्रफल के 6.5 प्रतिशत पर पर्वत श्रेणियाँ, 54 प्रतिशत पर पठार, 23.5 प्रतिशत पर आंतरिक मैदान एवं 16 प्रतिशत क्षेत्र पर तटीय मैदानों का विस्तार है। स्थालाकृति विशेषताओं की दृष्टि से इसे चार भागों में बाँटते है-

  • पश्चिम का पठारी क्षेत्र-

महादव्ीप के पश्चिमी भाग के विशाल पठारी भाग को पश्चिमी ऑस्ट्रेलिया का पठार कहा जाता है। इसकी ऊँचाई लगभग 800-1200 मीटर है। किम्बरले का पठार, मैक्डानेल का पठार, हैमर्सले का पठार, बार्ली श्रेणी, बर्फले, टेबललैंड इसके मुख्य उपपठार हैं। इनके अलावा कुछ अन्य पर्वत श्रेणियाँ घिसकर पठार के रूप में बदल गयी हैं। अधिकांश पठारी भाग पैलियोजोड़क युग की आग्नेय चटवित रुक्ष्म्ग्।डऋछ।डम्दव्र्‌ुरुक्ष्म्ग्।डऋछ।डम्दव्रुरू टानों, बलुआ पत्थर तथा चुना पत्थर से निर्मित है। पठार के उत्तरी भाग को हैमसैले का पठार कहा जाता है, जिसकी ऊँचाई 900 मीटर से अधिक है। हैमसैले श्रेणी में माउण्ट (पर्वत) प्रोफसेन (समस्या) तथा माउण्ट ब्रुश है। इसका दक्षिणी भाग बार्ली के नाम से प्रसिद्ध है, जिसकी सर्वोच्च चोटी माउण्ट अमस्टस है। सबसे उत्तर मे किम्बर्ले का पठार है, जिसकी सर्वोच्च चोटी माउण्ट काकबर्न है। मध्यवर्ती भाग में मैक्डानेल का पठार फैला है जो घिस जाने के कारण जटिल पर्वत-पठार के रूप में परिवर्तित हो गया है। बकैले पठार का विस्तार उत्तरी ऑस्ट्रेलिया तथा क्वीसलैंड में है। सबसे दक्षिण में नेल्लौरबॉर का पठार फैला है। यहां की माउण्ट मैगनेट (चुंबक) एवं माउण्ट मारगन की पहाड़िया तथा राबिन्स श्रेणी विख्यात है। इसकी मुख्य चोटियां माउण्ट गोल्ड (स्वर्ण) और माउण्ट हाले है।

संरचनात्मक विशेषताओं की दृष्टि से यह विश्व के अति प्राचीन पठारों में से है। यह सही अर्थों में पैन्जिया का विखंडित और विस्थापित अंग है। यहां आर्कियन चटवित रुक्ष्म्ग्।डऋछ।डम्दव्र्‌ुरुक्ष्म्ग्।डऋछ।डम्दव्रुरू टानें पायी जाती है, जिसका रूपांतरण हो चुका है। ग्रेनाइट (कड़ा पत्थर या चट्टान) और ग्रेनेरिक शिष्ट की प्रधानता है। कही कहीं बोल्डर (बेड़ी) कले के प्रमाण मिलते है।

पश्चिमी ऑस्ट्रेलिया का पठारी क्षेत्र मूलत: मरूस्थल है। इस मरूस्थल को तीन भागों में बाँटा गया है- ग्रेट (महान) सिन्डी (मिश्री) डेसर्ट (रेगिस्तान), Gibson desert (रेगिस्तान) तथा ग्रेट विक्टेरिया डेसर्ट, जो क्रमश: उत्तर से दक्षिण में है। इन तीनों में Gibson desert सबसे बड़ा है। गिब्सन और विक्टोरिया मरूस्थल के पूर्वी भाग में बोल्डर कले से मिलती है। सही अर्थों में यह carboniferous (कोयले का) हिमानी के प्रमाण है। central (केंद्रीय) upland (ऊंचे-ऊंचे) of (का) Australia, mono (एक) clinal upland (ऊंचे-ऊंचे) का अच्छा उदाहरण है। मसग्रेव पर्वतमाला

Developed by: