सी एस आई आर पवित्र तुलसी के संपूर्ण अनुक्रमण में सफल (Holy Basil Succeeded In Sequencing The Entire – Science And Technology)

Doorsteptutor material for CSIR is prepared by world's top subject experts: get questions, notes, tests, video lectures and more- for all subjects of CSIR.

Download PDF of This Page (Size: 144K)

सी.एस.आई.आर. एवं केन्द्रीय औषधीय और संबंध पौधा संस्थान (सी.आई.एम.ए.पी.) ने तुलसी के संपूर्ण जीनोम अनुक्रम को प्रकाशित किया है।

अन्य नाम: ओसिमम सैंक्टम चमत्कारी पौधा ’पवित्र तुलसी’

तुलसी का महत्व

• हिन्दु संस्कृति की पवित्र परंपरा के अनुसार यह 3000 वर्ष से अधिक समय तक पूजनीय रही है।

औषधीय लाभ

• यह पारंपरिक चिकित्सा की अनेक प्रणालियों में प्रयोग की जाती है, जिसमें आयुर्वेद, ग्रीक, रोमन, सिद्धा और यूनानी सम्मिलित हैं।

• यह अनेक रोगों जैसे कि ब्रोंकाइटिस, श्रसनी दमा, मलेरिया, हैजा, पेचिश, त्वचा रोगों, गठिया, पीड़ादायी नेत्र रोगों, तीव्र ज्वर, कीट दंश आदि का उपचार करने हेतु निर्मित औषधि मिश्रणों में प्रयोग की जाती है।

• इसमें प्रजननरोधी, कैंसररोधी, मधुमेह विरोधी, प्रति-कवकीय, प्रति सूक्ष्मजीवीय, यकृत- सरंक्षक, हृदय-संरक्षक, प्रति-वमनकारी, प्रति-अनियमनकारी, पीड़ानाशक, अनुकूलकारी एवं प्रस्वेदक क्रियाशीलता के गुण पाये जाते हैं।

Developed by: