Science and Technology: Space Tourism and Pollution, Solution

Get unlimited access to the best preparation resource for CTET-Hindi/Paper-2 : get questions, notes, tests, video lectures and more- for all subjects of CTET-Hindi/Paper-2.

अंतरिक्ष (Space)

अंतरिक्ष पर्यटन (Space Tourism)

पिछले एक दशक में अंतरिक्ष पर्यटन लगातार बढ़ता जा रहा है, जिसका सबूत है कि अब तक लगभग 7 अंतरिक्ष यात्री अंतरिक्ष पर्यटन कर चुके हैं। अपने खर्चे पर सर्वप्रथम अंतरिक्ष यात्रा करने वाले अमेरिका के अरबपति व्यवसायी डेनिस टीटो थे, जिन्होंने वर्ष 2001 में रूसी अंतरिक्ष यान सोयूज टी. एम. -32 से यह यात्रा पूरी की। सातवें अंतरिक्ष पर्यटक कनाडा के फ्रेंच व्यवसायी गाई लैलीबेर्टे हैं जिन्होंने सितंबर 2009 में रूसी अंतरिक्ष यान सोयूज टी. एम. ए. -16 से अंतरिक्ष यात्रा की। वे कुल 9 दिन अंतरिक्ष में रहे। वस्तुत: अंतरिक्ष पर्यटन के क्षेत्र में असीमित कारोबारी संभावना के मद्देनजर स्पेस एडवेंचर, वर्जन गैलेक्टिक तथा एक्साकौर एयरोस्पेस जैसी तीन दिग्गज कंपनियाँ इस क्षेत्र में कूद पड़ी है, जो कम खर्च पर छोटे अंतरिक्षयानों से अंतरिक्ष पर्यटन उपलब्ध कराएँगी। अब तक के अंतरिक्ष पर्यटक

Space Tourism
डेनिस टीटो2001
शार्क शटलबर्थ2002
ग्रेगरी ओलसन2005
अनुशेह अंसारी (प्रथम महिला अंतरिक्ष पर्यटक)2006
चार्ल्स सियोनी2007
रिचर्ड गैरियट2008
गाई लैलीबेर्टे2009

अंतरिक्ष प्रदूषण (Space Pollution)

अंतरिक्ष प्रदूषण का अर्थ है मानवीय गतिविधियों दव्ारा अंतरिक्ष में कचरे, छोटे-छोटे कणों तथा प्रदूषक पदार्थों का फैलना। पिछले 60 वर्षों में मानव ने अंतरिक्ष विज्ञान में कई उपलब्धियाँ तो हसिल की हैं किन्तु उन्हीं के साथ प्रदूषण जैसी कुछ समस्याएँ भी पैदा हो गयी है। इस प्रदूषण के निम्नलिखित कारण हैं:-

  • कभी-कभी किसी उपग्रह में विस्फोट होने पर उपग्रह में सुरक्षित रखे रसायन अंतरिक्ष में फैल जाते हैं तथा वहाँ उपलब्ध गैसों के साथ मिश्रित होकर खतरनाक कणों के रूप में घूमते रहते हैं।
  • प्रक्षेपण यान का अंतिम हिस्सा तथा कई उपग्रह कुछ दुर्घटनाओं में या यांत्रिक समस्याआंे के कारण क्षतिग्रस्त हो जाते हैं तथा उन्हीं के छोटे-छोटे टुकड़े कक्षा में घूमते रहते हैं। एक अनुमान के मुताबिक, अंतरिक्ष में 4.5 करोड़ टन के उपग्रह मलबे के रूप में चक्कर काट रहे हैं।
  • तीसरा कारण कॉस्मिक किरणें है। यह सुदूर बाह्‌य अंतरिक्ष से आती हैं और अंतरिक्ष यानों को भेदकर निकल जाती हैं।
  • अंतरिक्ष में नाभिकीय अवताप प्रदूषण का खतरा भी मंडरा रहा है। कई यानों में रेडियोधर्मी पदार्थो का प्रयोग किया गया है और यदि इस प्रकार की दुर्घटना होती है तो चेनॉबिल जैसी त्रासदी हजारों गुणा बड़े रूप में हो सकती है।
  • अंतरिक्ष के कचरे और प्रदूषण की समस्या का विश्लेषण करने के लिए अंतरराष्ट्रीय सहयोग से ‘स्पैड्‌स’ नामक यान को भेजा गया था जिसकी रिपोर्ट के अनुसार यदि अभी से ध्यान नहीं दिया गया तो आने वाले समय में अंतरिक्ष प्रदूषण की समस्या खतरनाक रूप धारण कर सकती है। प्रदूषण को दूर करने के लिए अंतरराष्ट्रीय ‘डेग्री कोआर्डिनेटर कमेटी’ का गठन किया गया है, जो अंतरिक्ष यान की सहायता से मलबों को हिन्द महासागर में छोड़ेगी।

समाधान (Solution)

  • अंतरिक्ष में भीड़-भाड़ को कम करना चाहिए।
  • नाभिकीय ईंधन या अन्य खतरनाक किस्मों के ईंधनों का प्रयोग अंतरिक्ष में नहीं करना चाहिए। सौर ऊर्जा इसका सर्वश्रेष्ठ उपयोग है।
  • उपग्रहों में जो रसायन आदि विस्फोटक पदार्थ हैं उनके लिए ठोस सुरक्षात्मक उपाय होने चाहिए ताकि बड़ी विपदाओं से बचा जा सके।

Developed by: