Major Models in Regional Development, Cumulative Causation Theory by Gunnar Myrdal

Get unlimited access to the best preparation resource for CTET : Get detailed illustrated notes covering entire syllabus: point-by-point for high retention.

Major Models in Regional Development

प्रादेशिक विषमता से संबंधित मॉडल

Core-Periphery Model by Friedman:-यह मॉडल इस संकल्पना पर आधारित है कि आर्थिक क्रियाओं का केन्द्र की ओर ध्रुवीकरण होता है जिससे परिधीय क्षेत्र विरल हो जाते है जिसमें भूदृश्य पर आर्थिक वृद्धि की विषमतायें उत्पन्न होती है यह स्वाभाविक प्रक्रिया है अत: प्रादेशिक असंतुलन स्फूर्त प्रक्रिया है।

Cumulative Causation Theory by Gunnar Myrdal संचयी कारक

  • प्रसिद्ध अर्थशास्त्री Gunnar Myrdal ने प्रादेशिक असंतुलन को एक चरण बतलाया है अर्थात आर्थिक वृद्धि की दशाओं की अवस्था मात्र है। इसके पश्चात संपूर्ण भूदृश्य पूर्ण विकसित होकर विकास के साम्यावस्था में प्रवेश करता है। इन्होंने इनके तीन चरण बतलाये-
    • First phase:- cumulative causation phase आर्थिक उत्पादन के सभी कारको का संचयन होने की प्रक्रिया जैसे-भूमि श्रम पूंजी, उद्यमशीलता का भूदृश्य के किसी आर्थिक केन्द्र पर संचयन होता है एवं जिससे आर्थिक विषमतायें उत्पन्न होने लगती है।
    • Backwash effect (पश्चप्रवाह प्रभाव) :- जब विकास के केन्द्र में तीव्र आर्थिक क्रियायें होती है तब समीपवर्ती प्रदेश का आर्थिक मरूभूमिकरण हो जाता है। क्योंकि Brain drain economic होते है। यह क्षेत्रीय विषमता का चरम काल होता है।
    • Spread out effect:-जब विकास केन्द्र पूर्ण विकसित होगा तब आर्थिक लाभ भूदृश्य पर चारो तरफ फैलते है एवं एक समान वृद्धि अथवा आर्थिक साम्यवस्था कायम हो जाती है तथा क्षेत्रीय विषमता दूर हो जाती है।
Cumulative Causation Theory by Gunnar Myrdal
Growth Pole and Centre
Growth poleGrowth centre
Perroux की संकल्पना है जो France में विकसित हुई।यूएसए में विकसित हुई तथा Perroux से स्वतंत्र परिकल्पना है। जिससे समर्थक संकल्पना Boudeville की प्राप्त होती है।
Growth pole राष्ट्रीय स्तर पर कार्य करता है।प्रादेशिक स्तर पर कार्य करता है।
समूहन प्रभाव का द्योतक है जहांँ तीन अथवा अधिक भारी एवं रोजगार सृजक उद्योग तथा अन्य आर्थिक क्रियाओं का संकेन्द्रण होता है।ध्रुवीकरण एवं संचयी प्रभाव पर आधारित है जहांँ उत्पादन के कारकों का केन्द्रीकरण होता है। एक अथवा दो प्रणोदक उद्योग विकसित होते है।
Growth pole अतिउच्च केन्द्रीयता अथवा centripetal force का परिणाम है।वृद्धि केन्द्र भूदृश्य पर कई निर्मित होते है तथा प्रादेशिक इकाई के रूप में कार्य करते है।
यह economic space की संकल्पना पर कायम है।यह भौगोलिक space की संकल्पना पर आधारित
  • economic space का अर्थ है-
  • An economic plan जो किसी भूदृश्य पर लागू होती है।
  • आर्थिक कारकों एवं शक्तियों का संकेन्द्रण जैसे-पूँजी, श्रम उद्यमशीलता आदि का आकर्षण केन्द्र
  • An Aggregate अर्थात विभिन्न आर्थिक प्रौद्योगिक, सेवा एवं उद्यापेे क्षेत्रों के समूहन प्रभाव से उत्पन्न इकाई भाग।
Economic space एक मानसिक संकल्पना है। एक विषय परक विश्लेषण वस्तु निष्टता का अभाव है। किसी भौगोलिक इकाई काल्पनिक अवस्थिति बिन्दु का संकेतक है। जहाँ अधिकतम लाभ प्राप्ति न्यनूतम लागत एवं न्यूनतम प्राप्त होता है जहाँं आर्थिक क्रियाओं की तीव्रता एवं समूहन प्रभाव संभव है।
भौगोलिक space वस्तुनिष्ठ संकल्पना है जो किसी भौगोलिक इकाई का संकेतक है।

जैसे-पूर्व अवस्थित महानगर अथवा औद्योगिक केन्द्र जहाँ आर्थिक क्रियायें पूर्व से ही संलग्न है। इसका जैसे- ब्राजील में मेनागेरास है। जहाँ लौह अयस्क उत्खन्न एवं iron & steel पूर्व से अवस्थित है।

विकास केन्द्र भौगोलिक इकाइयों को माना गया है जबकि विकास ध्रुव संकल्पित भूदृश्य के आर्थिक प्रदेशों को जहाँ अधिकतम लाभ एवं समूहन प्रभाव उत्पन्न होने की संभावना है।

Developed by: