ऑस्ट्रेलिया का भूगोल (Geography of Australia) Part 9 for Odisha PSC Exam

Doorsteptutor material for CTET is prepared by world's top subject experts: Get detailed illustrated notes covering entire syllabus: point-by-point for high retention.

  • सोना- ऑस्ट्रेलिया में विश्व का लगभग 5 प्रतिशत सोना वर्तमान में निकाला जाता है। देश के सोने के उत्पादन में प्रारंभ से ही पश्चिमी ऑस्ट्रेलिया अग्रणी प्रदेश रहा है। देश का 75 प्रतिशत सोना इसी राज्य से मुख्यत: कूलगाड़ी, कालगूर्ली, किम्बरले, थालगू, सेण्ट आरग्रेट एवं पिंजवारा क्षेत्रों से निकाला जाता है। उत्तरी ऑस्ट्रेलिया से 15 प्रतिशत से अधिक सोना निकाला जाता है। यहां की अधिकांश खानें तेनान्त क्रीक के आसपास स्थिति है।
  • चाँदी- चाँदी उत्पादन में ऑस्ट्रेलिया का विश्व में पाँचवा स्थान हैं। यहां के मुख्य क्षेत्र पश्चिमी अस्ट्रेलिया में कालगुर्ली व कूलगार्डी क्षेत्र तथा माउण्ट डेसा हैं। न्यू साउथ वेल्स में ब्रोकन हिल से अधिकांश चाँदी निकाली जाती है। तस्मानिया में रीडहर-वुलिज एवं माउण्ट जीहान मुख्य क्षेत्र हैं। थोड़ी सी चाँदी दक्षिणी ऑस्ट्रेलिया के पूर्वी भाग से भी प्राप्त की जाती है।
  • कोयला-विश्व उत्पादन में इसका पाँचवाँ एवं दक्षिणी महादव्ीपों में पहला स्थान है। देश का 50 प्रतिशत उत्तम कोयला न्यू साउथ वेल्स प्रान्त से प्राप्त होता हे। यहां के प्रमुख क्षेत्र ग्रेट बेसिन के उत्तर से प्रारंभ होकर पूरब में न्यू कैसिल व तट तक, पश्चिमी में लिथिगों व दक्षिण में बूली के पास तक पाए जाते हैं। वर्तमान में अधिकांश खनन दक्षिण-पूरब में मैटलैंड के समीप एवं सिडनी बेसिन में होता है। विक्टोरिया राज्य में (जिप्सलैंड) लिग्नाइट (भूरा कोयला) कोयला सबसे अधिक मिलता है। इसके मुख्य खनन क्षेत्र या लोन व ला ट्रोम्बे में तथा अन्य मारबेल व मेलबोर्न क्षेत्र में विकसित किए गए है। पश्चिमी ऑस्ट्रेलिया में पर्थ के पश्चिम में कुली क्षेत्र में एवं डर्बी किम्बरले व फिजरॉय घाटी से कोयला निकाला जाता है। क्वींसलैंड के सबसे महत्वपूर्ण कोयला क्षेत्र इप्सविच तथा क्लेरमोण्ट हैं। दक्षिणी ऑस्ट्रेलिया में अधिकांश कोयला अधिक गहराई पर मिलता है। मुख्य खनन क्षेत्र लोह कीके, काफिन घाटी, रोबी, पिन्विम इत्यादि है। विक्टोरिया राज्य में जिप्सलैंड एवं योनथागों क्षेत्र से लिग्नाइट तथा विटुमिनस कोयला मिलता हैं।

Developed by: