पश्चिमी यूरोप का भूगोल (Geography of Western Europe) Part 12 for Odisha PSC Exam

Get top class preparation for IAS right from your home: Get detailed illustrated notes covering entire syllabus: point-by-point for high retention.

गेहूँ-

आज इसकी खेती बड़े फार्मों (खेत) में होती है। जनसंख्या विरल और मजदूर सस्ते होने के कारण मशीनों का प्रयोग बहुलता से होता है। लगभग सभी देशों में गेहूँ की खेती होती है। नीदरलैंड, बेल्जियम और डेनमार्क विश्व मेे गेहूँ के सर्वाधिक प्रति हेक्टेयर उत्पादन (4700 किग्रा/हैक्टेयर) होता है। आर्द्र क्षेत्र होने के कारण उत्तर सागर के तटवर्ती देशों में मुलायम गेहूँ उपजाया जाता है।

फ्रांस में पेरिस: बेसिन के अतिरिक्त पिकाडी, नॉरमंडी, और निम्न लॉयर घाटी में पर्याप्त गेहूँ उपजता है। इटली में लिसली प्रमुख गेहूँ क्षेत्र है। पो. बेसिन (लोम्बार्डी) में भी इसका उत्पादन होता है। स्पेन (जमोरा क्षेत्र) , प. जर्मनी (उत्तरी मैदान) गेहूँ के प्रमुख उत्पादक है।

जौ-

विश्व उत्पादन का आधा जौ सिर्फ यूरोप उपजाता है। यू. के. , फ्रांस, स्पेन, जर्मनी, डेनमार्क, स्वीडन, आस्ट्रिया, बेल्जियम, नीदरलैंड मुख्य उत्पादक है। पहले इसकी खेती खाद्यान्न के लिए की जाती थी, पर अब यह पशुओं को (खासकर सुअरों को) खिलाया जाता है। इससे शराब भी तैयार की जाती है।

यू. के. में प्रति हैक्टेयर उत्पादन रूस से तीन गुना है। किन्तु यूरोप में प्रति हैक्टेयर सवौधिक जौ उत्पादन आयरलैंड में (4700 किग्रा) होता है। फ्रांस के उत्तरी भाग में इसका उत्पादन होता है।

राई-

खाद्यान्न के अतिरिक्त यह व्यावसायिक फसल है जो शराब और मोटा कागज तैयार करने के काम आता है। ब्लैक बर्ड (काला पक्षी) नाम से प्रचलित यह निर्धनों का मुख्य भोजन है। पूर्वी जर्मनी, स्वीडन, फ्रांस, आस्ट्रिया, डेनमार्क और फिनलैंड प्रमुख उत्पादक है। विश्व उत्पादन का 30 प्रतिशत राई अकेला यूरोप उत्पन्न करता है।

जई-

इसे मुख्यत: पशुओं को चारे के रूप में खिलाया जाता है। स्कॉटलैंड में जौ का दलिया खाने के काम आता है। आयरलैंड, यू. के. फ्रांस, डेनमार्क, नीदरलैंड, स्वीडन तथा जर्मनी मुख्य उत्पादक है। विश्व उत्पादन की आधी जई यूरोप उत्पादन करता है।

चुकन्दर- इससे चना बनता है तथा इसका साठा अवशिष्ट पशुओं को खिला दीया जाता है। इसकी सीढी और पत्तियों से अच्छी खाद भी तैयार होती है। फ्रांस, प. जर्मनी, इटली, स्पेन, यू. के. नीदरलैंड आदि प्रमुख उत्पादक हैं। विश्व उत्पादन का आधा चुकन्दर यूरोपीय देश उत्पन्न करते हैं।

आलू- यह यूरोप का प्रिय खाद्य पदार्थ है, जिससे अल्कोहल भी बनाया जाता है। इसकी खेती मध्यवर्ती मैदान में आयरलैंड, यू. के. फ्रांस, बेल्जियम, नीदरलैंड, डेनमार्क, जर्मनी आदि देशों में होती है। दक्षिण में इटली इसका महत्वपूर्ण उत्पादक है। विश्व का तीन-चौथाई आलू अकेले यूरोप उत्पन्न करता है। जर्मनी में प्रति हेक्टेयर आलू उत्पादन सर्वाधिक हैं।

मक्का-

यह मुख्यत: पो घाटी और आइबेरिया प्रायदव्ीप में होता है जहां लंबा ग्रीष्म काल मिल जाता है।

अन्य-

इटली, द. फ्रांस आदि क्षेत्रों में तंबाकू की भी खेती होती है। इटली और स्पेन सीमित क्षेत्रों में धान भी उपजा लेते है। रेशेदार पदार्थों में फ्लैक्स (लचीला तार) का उत्पादन बेल्जियम, नीदरलैंड, फ्रांस, जर्मनी आदि देश करते हैं। फ्लैक्स सनई की तरह रेशा तो प्रदान करता ही है, अपने बीज से तेल भी उत्पन्न करता है जिसका उपयोग वार्निश और रंग रोगन में होता है।

फ्रांस अंगूर और बंगूरी शराब का विश्व में सबसे बड़ा उत्पादक है। अंजीर के मुख्य उत्पादक इटली, स्पेन तथा पुर्तगाल है। नारंगी के मुख्य उत्पादक स्पेन, फ्रांस और इटली है। स्पेन जैतून का सबसे बड़ा उत्पादक देश है जो विश्व का आधा जैतून उपजाता है।

Developed by: