भारत में बालिका शिक्षा के प्रोत्साहन हेतु डिजिटल जेंडर एटलस (अँगंली संबंधी लिंग मानचित्रावली) (To Encourage the Education of Girls in India Atlas Digital Gender – Government Plans)

Glide to success with Doorsteptutor material for CTET-Hindi/Paper-1 : get questions, notes, tests, video lectures and more- for all subjects of CTET-Hindi/Paper-1.

उद्देश्यअपेक्षित लाभार्थीमुख्य विशेषताएं
• विशिष्ट लिंग संबंधी शिक्षा संकेतको पर आधारित लड़कियों के लिए विपरीत परिस्थितियों वाले भौगोलिक क्षेत्रों की पहचान करने में मदद करना, विशेष रूप से वंचित समूहों जैसे अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और मुस्लिम अल्पसंख्यकों के लिए

• नि: शक्त लड़कियों सहित कमजोर लड़कियों की पहचान करना और उन पर फोकस करना

• व्ांचित समूहों जैसे- अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और मुस्लिम अल्पसंख्यकों वर्गों की लड़कियाँ

• नि: शक्त लड़कियाँ आदि

• जेंडर एटलस के मुख्य घटक:

o मिश्रित जेंडर रैंकिंग

o लिंग संकेतकों का ट्रेंड (दिशा) एनालिसिस (प्रवृत्ति विश्लेषण)

o शैक्षिक संकेतकों पर आधारित सुभेद्यता

• यह एटलस मानव संसाधन विकास मंत्रालय की वेबसाइट पर प्रस्तुत है तथा यह राज्यों/जिलों/ब्लॉक (खंड) शिक्षा प्रशासकों या किसी अन्य इच्छुक व्यक्ति/संस्था दव्ारा इस्तेमाल किए जाने के लिए उपलब्ध है।

• यह एटलस राष्ट्रीय, राज्य, जिला और ब्लॉक स्तर पर लिंग संबंधी संकेतको की प्रत्येक चार माह में रैंकिंग के आधार पर एक तुलनात्मक मिश्रित सूचकांक (कम्पेरेटिव कम्पोजिट इंडेक्स) प्रदान करता है।

• यह एटलस एक ट्रेंड एनालिसिस प्रदान करता है और साथ हीं एक मिश्रित समयावधि में लिंग संबंधी मापदंडो के आधार पर व्यक्तिगत प्रदर्शन को समझने का अवसर प्रदान करता है।

• यह विजुअलाईजेशन (दृष्टि-संबंधी) वस्तुत: मैप (मानचित्र) मैनेजमेंट (संचालक) इनफार्मेशन सिस्टम (सूचना व्यवस्था) (एमएमआईएस) तकनीक पर आधारित है, जो मानचित्रों पर आंकड़ो के नवाचारी विजुअलाईजेशन को सक्षम बनाता है।