रुर्बन मिशन (Rurban Mission – Government Plans)

Doorsteptutor material for CTET-Hindi/Paper-2 is prepared by world's top subject experts: get questions, notes, tests, video lectures and more- for all subjects of CTET-Hindi/Paper-2.

उद्देश्यअपेक्षित लाभार्थीमुख्य विशेषताएं
• देश भर में वर्ष 2019 - 20 तक 300 स्मार्ट (आकर्षक) गांवों के एक क्लस्टर के विकास के दव्ारा ग्रामीण क्षेत्रों में सामाजिक, आर्थिक और बुनियादी ढांचे के विकास को प्रोत्साहित करना

नागरिक सेवा केन्द्र उपलब्ध करवाना जिनके माध्यम से नागरिक केन्द्रित सेवाओं की इलेक्ट्रॉनिक (विद्युत प्रवाह को नियंत्रित करने वाले छोटे-छोटे हिस्सों-पुरजों से बनाया या संचालित) डिलीवरी (पहुँचाने की क्रिया) और ई-ग्राम कनेक्टिविटी (संयोजक) , सार्वजनिक परिवहन, एनपीजी गैस कनेक्शन (संयोजन) , कृषि प्रसंस्करण, भंडारण सहित कृषि सेवाएं, स्वच्छता, नल-जल आपूर्ति, ठोस और तरल अपशिष्ट प्रबंधन और शिक्षा उन्नयन की सुविधा उपलब्ध हो सके

• 25000 - 50000 की जनसंख्या वाले तटीय एंव मैदानी गाँव

• 5000 - 15000 की जनसंख्या वाले पहाड़ी, मरुस्थलीय एवं जनजातीय क्षेत्र

• श्यामा प्रसाद मुखर्जी रुर्बन मिशन (एसपीएमआरएम) ने पीयूआरए का स्थान ग्रहण किया है

• केंद्रीय बजट 2014 - 15 में एसपीएमआरएम की घोषणा की गई थी

• स्मार्ट ग्राम = एक ऐसा क्षेत्र जो वस्तुत: शहरी क्षेत्र की आर्थिक विशेषताओं और जीवन शैली के सन्निकट होता है, परन्तु अपनी आवश्यक ग्रामीण क्षेत्र संबंधी विशेषतओं को बनाए रखता है।

• राज्य सरकार इन ′ कलस्टरों की पहचान करेगी

• इन क्लस्टरों का विकास मुख्यत: आर्थिक गतिविधियों कौशल विकास एवं स्थानीय उद्यमिता के प्रावधान एवं अवसरंचनात्मक सुविधाएं प्रदत्त करके दिया जाएगा

• इस प्रकार, रुर्बन मिशन वस्तुत: मार्ट गाँवों का एक क्लस्टर विकसित होगा

• इन क्लस्टरों के सर्वोत्कृष्ट स्तरीय विकास को सुनिश्चित करने के लिए इस योजना का संचालन 14 अनिवार्य घटकों, के साथ किया जाएगा, जिनमें सम्मिलित हैं- आर्थिक गतिविधियों से संबंधित कौशल विकास प्रशिक्षण, डिजिटल (अँगंली संबंधी) साक्षरता, सभी उपकरणों में लैश (कम) मोबाइल (गतिशील; चलता-फिरता) हेल्थ यूनिट (स्वास्थ्य ईकाई) और गाँवों के बीच कनेक्टिविटी

• ऐसे रुर्बन क्लस्टरों की फंडिंग (ऋण प्रदान करना) इन क्षेत्रों में संचालित विभिन्न सरकारी योजनाओं के माध्यम से किया जाएगा, हालांकि पीपीपी इस हेतु पसंदीदा माध्यम होगा

क्लस्टर = (मैदानी एवं तटीय भागों में 25000 से 50000 तथा मरुस्थलीय, पहाड़ी एवं जनजातीय क्षेत्रों 5000 से 15000 जनसंख्या वाली भौगोलिक दृष्टि से निकटवर्ती ग्राम पंचायतें)