ऑस्ट्रेलिया का भूगोल (Geography of Australia) Part 6 for Uttarakhand PSC

Download PDF of This Page (Size: 167K)

जलवायु प्रदेश

जलवायु की दृष्टि से ऑस्ट्रेलिया को 8 प्रमुख भागों में बाँटते हैं-

  • मानसूनी जलवायु प्रदेश- ऑस्ट्रेलिया के उत्तरी व उत्तर-पूर्वी भागों में पाई जाती है। कारपेन्टरिया का मैदान तथा यार्क प्रायदव्ीप मानसूनी जलवायु का क्षेत्र है। यहाँ मानसून की उत्पत्ति का कारण है-कारपेण्टरिया के मैदान का गर्म होना तथा gulf (खाड़ी)of (का) carpentaria का उच्च भार के रूप में कार्य करना। यहाँ पतझड़ वन मिलते हैं। पतझड़ जाड़े की ऋतु में होता है। इनमें सागौन, बाँस, शीशम, साल, देवदार, महोगनी आदि के वृक्ष मिलते हैं।

  • उष्ण कटिबंधीय शुष्क जलवायु/सवाना जलवायु प्रदेश- सवाना का अधिकतर भाग उत्तरी ऑस्ट्रेलिया में है। यह क्षेत्र पशुचारण के लिए प्रसिद्ध है। यह Emu पंछियों का क्षेत्र है। पाकृतिक वनस्पति के रूप में मोटी छालों वाली बड़ी-बड़ी घासें पाई जाती हैं। लेकिन यहां प्राकृतिक घास को काटकर घास के वन बसाए गए हैं जो ओस देने वाले (beef (गाय का मांस)cattle (पशु)) जानवराेे के लिए उपयुक्त हैं।

  • उष्ण मरुस्थलीस जलवायु प्रदेश- यह पश्चिमी ऑस्ट्रेलिया का मरुस्थलीय क्षेत्र है। प्राकृतिक वनस्पति के रूप् में छोटी-छोटी घासें और कंटीली झाड़ियां पायी जाती हैं। खनिज संसाधनों की दृष्टि से यह जलवायु प्रदेश बहुत ही घना क्षेत्र हैं।

  • मध्य अक्षांशीय महादव्ीपीय जलवायु प्रदेश्ा- यह जलवायु आर्टिशियन बेसिन से भरें डार्लिंग बेसिन तक है। यह प्रसिदव् मुलायम घास के मैदान हैं, जिन्हें डाउन्स कहा जाता है।

  • भूमध्यसागरीय जलवायु प्रदेश- यह दक्षिणी-पश्चिमी ऑस्ट्रेलिया तथा दक्षिणी पूर्वी ऑस्ट्रेलिया में पाया जाता है। शीत ऋतु में पछुवा हवा के प्रभाव के कारण चक्रवाती वर्षा होती है। यहां विशेष प्रकार की झाड़ीनुमा वनस्पति पाई जाती है, जिसे माली कहा जाता है। फलों की खेती होती हैं।

  • शीत शीतोष्ण जलवायु प्रदेश- यह तस्मानिया तथा विक्टोरिया राज्य की विशेषता है। इस प्रदेश में चौड़ी पत्ती वाले सदाबहार वनस्पति तथा मुलायम घास पाई जाती हैं। इसकी जलवायु दुधारू पशु के लिए उपयुक्त है। तस्मानिया सेब की कृषि के लिए प्रसिद्ध है।

  • उत्तर-पूर्व का अति आर्द्र प्रदेश- यह क्वींसलैंड राज्य का तटवर्ती क्षेत्र है। यहां सालोभर वर्षा होती है। यहां चौड़ी पत्ती वाले सघन वन मिलते हैंं।

  • पूर्वी तटीय जलवायु प्रदेश- न्यू साउथ वेल्स के तटीय क्षेत्र में इस प्रकार की जलवायु मिलती है। यह मिश्रित वनस्पति के क्षेत्र है।

मृदा-

ऑस्ट्रेलिया में चार प्रकार की मृदा मिलती है-

  • जलोढ़ मृदा- यह कारपेन्टरिया बेसिन और पूर्वी तटीय प्रदेशों की विशेषता है।

  • चरनोजत-यह आर्टिशियन बेसिन से मरै डार्लिंग के मुहाने तक पाए जाते हैं।

  • चेस्टनर मृदा- यह सलाना घास के मैदान और भूमध्यसागरीय क्षेत्र में पाए जाते हैं।

  • मरुस्थलीय मृदा- इसमें वालू तथा लवण की प्रधानता है। कहीं-कहीं पॉडजोलिक मृदा के क्षेत्र है जो तस्मानिया और विक्टोरिया राज्य की विशेषता है।

Glide to success with Doorsteptutor material for CTET - Get detailed illustrated notes covering entire syllabus: point-by-point for high retention.

Developed by: