न्यूजीलैंड का भूगोल (Geography of New Zealand) Part 2 for Uttarakhand PSC Exam

Get unlimited access to the best preparation resource for CTET-Hindi/Paper-1 : get questions, notes, tests, video lectures and more- for all subjects of CTET-Hindi/Paper-1.

धरातल-

  • उत्तरी दव्ीप-उत्तरी दव्ीप का 1/10 भाग अधिक ऊँचा पर्वतीय भाग है। केवल चार ज्वालामुखी चोटियाँ एग्मांट (2408 मी) , रूपेह (2798 मी) , नगरूहो (2,262 मी) तथा टोन्गारियो (2054 मी) ही अधिक ऊँचे हैं।

इनमें एग्मार को छोड़कर सभी जाग्रत ज्वालामुखी की चोटियाँ हैं। एग्मांट तथा रुपेह की चोटियों पर क्रेटर झीले भी हैं। ये चोटियां अधिकांश ऊँची होने के कारण वर्ष भर जमी रहती है।

उत्तरी दव्ीप की पर्वतमाला दक्षिण-पश्चिम दिशा में फैली हुई है, यह पूर्वी तट के समानान्तर चली है। इन पर्वतों का विस्तार पूर्वी अन्तरीय से तुया किरो हेड तक है। इनमें-शऊ कुमारा, हुई अराऊ, तारारुआ तथा रिमुताका है। सुदूर उत्तर पश्चिम ऑकलैंड प्रायदव्ीप है जो विषम रचना वाला एवं काफी कटा-फटा है। यहाँ ज्वालामुखी उदवित रुक्ष्म्ग्।डऋछ।डम्दव्र्‌ुरुक्ष्म्ग्।डऋछ।डम्दव्रुरू गारों से निकले पदार्थ जमा हैं।

उत्तरी दव्ीप का पूर्वी भाग हॉक खाड़ी से वेलिंगटन तक कठोर चटवित रुक्ष्म्ग्।डऋछ।डम्दव्र्‌ुरुक्ष्म्ग्।डऋछ।डम्दव्रुरू टानों का बना हुआ है। वेचापू, वेपोओ, वेरोआ और मोहाका यहां की प्रमुख नदियाँ हैं। दक्षिणी भाग में पर्वत श्रेणियों के धँस जाने के कारण तट पर पोर्ट निकलसन और वेलिंगटन प्रमुख प्राकृतिक पोताश्रय बन गए हैं। उत्तरी दव्ीप के मध्य में ज्वालामुखी पठार है।

उत्तरी दव्ीप का मुख्य मैदान ऑकलैंड प्रायदव्ीप के दक्षिण में नाइकाटो क्षेत्र है, जो देश का सबसे अधिक घना बसा हुआ व कृषि की दृष्टि से अधिक उपजाऊ है। आकार व गुण की दृष्टि से दूसरा मुख्य मैदान वाइकाटो के पूर्व में फैला है, जिसे टेम्स मैदान कहा जाता है। प्लेंटी की खाड़ी के दक्षिण में फैला यह मैदानी क्षेत्र एक अदव्र्चन्द्रकार भू- भाग हे। अन्य मैदान में तारानाकी मैदान है, जिसमें एग्मोण्ट नामक ज्वालामुखी है।

  • दक्षिणी दव्ीप- न्यूजीलैंड के दक्षिणी दव्ीप पर दक्षिणी आल्प्स पर्वत श्रेणी है, जो दांत के आकर की विषम चोटियों के कारण अतिदर्शनीय पर्वत-श्रेणी है। दक्षिणी आल्प्स की सबसे ऊँची चोटी (न्यूजीलैंड की भी) माउण्ट (पर्वत) कुक 376 मी. है जिसे स्थानीय माओरी लोग औरांगी कहते हैं, जिसका अर्थ होता है- बादलों को छेदने वाला। से पर्वत श्रेणी पूर्व-क्रिटेशियस और टर्शियरी काल में बने हैं। इस पर्वत श्रृंखला की उत्तरी -पश्चिमी और पश्चिमी श्रेणियाँ विक्टोरिया, ब्रूनर तथा लायलरेंज कहलाती है। यह श्रेणियाँ कैण्टरबरी और वेस्टलैंड के मध्य जल विभाजक का काम करती है। इस पर्वत श्रृंखला की उत्तरी श्रेणियां सेण्ट आरनॉड और रिचमांड रेंज (श्रेणी) के नाम से पुकारी जाती है। उत्तर-पूर्व की ओर स्पेन्सर पर्वत है। दक्षिण में ओटागों में इन दक्षिणी आल्प्स पर्वत के नाम फियोर्ड तट में परिवर्तित हो जाते हैं।

दक्षिणी दव्ीप में फैला मुख्य मैदानी भाग कैन्टरबरी है, जो इसके पूर्वी तट पर है। ओटागो क्षेत्र की बालूक्लूथ और अन्य आंतरिक घाटियां मुख्य मैदानी भाग हैं। दक्षिणी में ओरेटी, वैल्ड ब्लेनहीम और नेल्सन तटीय मैदान विस्तृत है।