राष्ट्रीय पेंशन (नौकरी समाप्ति के बाद का विशेष वेतन) योजना (नेशनल पेंशन स्कीम-एनपीएस) (National Pension Scheme – Government Plans)

Get unlimited access to the best preparation resource for CTET-Hindi/Paper-1 : get questions, notes, tests, video lectures and more- for all subjects of CTET-Hindi/Paper-1.

Download PDF of This Page (Size: 151K)

उद्देश्य

अपेक्षित लाभार्थी

मुख्य विशेषताएं

• सभी नागरिकों को सेवानिवृत्ति आय प्रदान करना।

• पेंशन सुधारों को संस्थागत करना और नागरिकों में सेवानिवृत्ति संबंधी बचत की आदत डालना

• 18-60 वर्ष की आयु वाले सभी भारतीय नागरिक

• टियर-1 के सभी सरकारी कर्मचारी

• सभी नागरिक जैसे- निजी कर्मचारी एवं असंगठित क्षेत्र के श्रमिक

• 18-60 वर्ष की आयु वाले सभी भारतीय नागरिक इस योजना से जुड़ सकते हैं

• पीएफआरडीए दव्ारा प्रशासित

• अंशदान योजना के रूप में परिभाषित

• 3 प्रकार:

Ø टियर 1 एनपीएस एकाउंट (खाता)

Ø टियर 2 एनपीएस एकाउंट

Ø एनपीएस-स्वावलंबन योजना

• सरकार की ’स्वावलंबन योजना एनपीएस लाइट’ (रोशनी) के सभी वर्तमान सदस्य स्वत: ही ’अटल पेंशन योजना’ में स्थानांतरित हो जायेंगे। यह सब स्वावलंबन योजना का स्थान लेगी।

• साधारण: एनपीएस के रूप में अकाउंट खुलवाने पर एक ’स्थायी सेवानिवृत्ति खाता संख्या (पीआरएएन)’ प्रदान की जाती है, जो कि एक अदव्तीय नंबर है और यह अभिदाता (एनपीएस में योगदान करने वाले) के साथ आजीवन रहेगा।

• वहनीय (पोर्टेबल (जिसे हाथ में उठाए घूमा जा सके अथवा आसानी से एक स्थान से दूसरे स्थान ले जाया जा सके): निवर्तमान सभी पेंशन योजनाओं, जिसमें इपीएफओ की योजनाओं भी सम्मिलित हैं, के विपरीत एनपीएस सभी प्रकार के नौकरियों तथा सभी स्थानाेें पर सीमलेस (निर्बाध) वहनीयता की सुविधा प्रदान करता है।

• लचीला: एनपीएस निवेश के विविध विकल्प प्रदान करता है एवं पेंशन फंड (कोष) मैंनेजर (संचालक/संचालिका) (पीएफएमएस) को चुनने का अधिकार प्रदान करता है।

• निवेशक समग्र जोखिम को विभिन्न परिसंपति वर्गों में बांटने के विकल्प को चुन सकते है, जिसे परिसंपति आवंटन कहा जाता है, (इ=समता, सी = ऋण जोखिम, सरकारी प्रतिभूतियों के अतिरिक्त अन्य प्रतिभूतियां, जी= सरकारी प्रतिभूतियां)

Developed by: