परंपरागत चिकित्सा पर भारत और विश्व स्वास्थ्य संगठन के बीच समझौता (Agreement Between India And The World Health Organization on Conventional Medicine – Social Issues)

Download PDF of This Page (Size: 153K)

• भारत सरकार के आयुष मंत्रालय और विश्व स्वास्थ्य संगठन ने परंपरागत चिकित्सा पर एक परियोजना सहयोग समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं।

• यह समझौता परंपरागम और पूरक चिकित्सा के क्षेत्र में गुणवत्ता, सुरक्षा और सेवा प्रावधान की प्रभाविता को बढ़ावा देने के संबंध में सहयोग के लिए है।

• इसका उद्देश्य ”परपंरागत और पूरक चिकित्सा रणनीति: 2014-2023” के विकास और कार्यान्वयन में विश्व स्वास्थ्य संगठन की मदद करना है।

• 2016-2020 अवधि के लिए यह समझौता पहली बार योग में प्रशिक्षण के लिए डब्ल्यूएचओ बेंचमार्क दस्तावेज़ तथा आयुर्वेद, यूनानी और पंचकर्म में प्रैक्टिस (अभ्यास) के लिए डब्ल्यू एच ओ बेंचमार्क प्रदान करेगा।

• इससे परंपरागत चिकित्सा में राष्ट्रीय क्षमताओं को मजबूत बनाने में महत्वपूर्ण योगदान मिलेगा।

• साथ ही यह परंपरागत चिकित्सा उत्पादों और राष्ट्रीय स्वास्थ्य देखभाल प्रणाली में उनके एकीकरण को बढ़ावा देने के लिए नियामक ढाँचा स्थापित करने में भी मदद करेगा।

• यह भारतीय पंरपरागत चिकित्सा प्रणाली को वैश्विक रूप से बढ़ावा देने में भी योगदान देगा।

• यह रोगों के अंतरराष्ट्रीय वर्गीकरण और स्वास्थ्य उपायों के अंतरराष्ट्रीय वर्गीकरण में आयुर्वेद और यूनानी को शामिल करने का मार्ग प्रशस्त करेगा।

Get top class preperation for competitive exams right from your home- get questions, notes, tests, video lectures and more- for all subjects of your exam.

Developed by: