मानव डीएन संरचना (प्रोफाइलिंग) विधेयक 2015 (Human DN Structure Bill, 2015-Law)

Download PDF of This Page (Size: 191K)

डीएनए प्रोफाइलिंग (पार्श्व दृश्य) क्या हैं?

• डीएनए प्रोफाइलिंग एक ऐसी तकनीकी है जिसे व्यक्ति की पहचान करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। यह एक बहुत ही संवदेनशील तकनीकी है जिसमें त्वचा, बाल, खून या लार के नमूने लिए जाते हैं।

• डीएनए प्रोफाइलिंग का प्रयोग मुख्तया अपराधों को सुलझाने और अपराधी को पकड़ने के लिए किया जाता है। इस तकनीकी का उपयोग कर व्यक्तियों के बीच रक्त-संबंधों की पुष्टि भी की जा सकती हैं, जैसे-पितृत्व का निर्धारण।

विधेयक कर प्रमुख विशषताएं

डीएनए प्रोफाइलिंग कानून के तहत डीएनए के नमूनों और आंकड़ों, सुरक्षा, उपयोग और पहुँच की प्रक्रिया को निर्धारित किया जाएगा और इन सबसे जुड़ी प्रक्रियाओं को कूटबद्ध भी किया जा सकेगा।

• डीएनए जानकारी को न्यायिक कार्यवाही में सबूत के तौर पर स्वीकारा जा सकेगा।

• डीएनए परीक्षण के प्रबंधन का निर्धारण किया जा सकेगा।

• कानून प्रवर्तन एजेंसियों (कार्यस्थानों) और अन्य लोगों दव्ारा इस जानकारी के उपयोग के विनियमन का निधार्रण।

• दो नए निकाय स्थापित किये जायेंगे डीएनए प्रोफाइलिंग परिषद- यह परिषद नियामे के रूप में कार्य करेगी और डीएनए नमूने के परीक्षण, भंडारण और मिलान करने संबंधित सभी गतिविधियों की निगरानी करेगी। सभी मौजूदा और नई डीएनए प्रयोगशालाओं को परिषद से मान्यता लेनी पड़ेगी। डीएनए डाटा बैंक (आंकड़ा अधिकोष)-इन्हें राष्ट्रीय स्तर और राज्य स्तर पर स्थापित किया जाएगा। डीएनए जानकारी को इन्हीं डाटा बैंको में सुरक्षित रखा जाएगा।

• यह विधेयक फॉरेंसिक (अदालती) उद्देश्यों के लिए अपराधियों, संदिग्ध व लापता व्यक्तियों, अज्ञात मृतकों आदि के डीएनए नमूनों के संग्रह और विश्लेषण को वैधता प्रदान करेगा।

• कुछ मामलों में जैसे कि किसी लापता बच्चे के वापस मिल जाने के उपरान्त इसमें डीएनए जानकारी के हटायें जाने का भी प्रावधान है।

• इसमें अनधिकृत साधनों के माध्यम से व्यक्तिगत रूप से चिन्हित करने योग्य डीएनए जानकारी प्राप्त करने के लिए भी सजा का प्रावधान है।

डीएनए क्या हैं?

किसी व्यक्ति के गुणसुत्रों में विद्यमान डीएनए वस्तुत: दृश्य विशेषताओं (यथा-जाति, रंग और लिंग सहित) के साथ-साथ अदृश्य विशेषताओं (जैसे ब्लड ग्रुप (खून समूह) और आनुवंशिक रोगों के लिए संवदेनशीलता) को नियंत्रित करता है। किसी व्यक्ति के शरीर की सभी कोशिकाओं में उपस्थित डीएनए एक समान होता है। यह सत्य है कि प्राय: प्रत्येक व्यक्ति का डीएनए अदव्तीय होता है। (केवल समरूप जुड़वाँ को छोड़कर)।

Get top class preperation for competitive exams right from your home- get questions, notes, tests, video lectures and more- for all subjects of your exam.

Developed by: