प्लेनेट (ग्रह) 9 (Planet 9 – Science And Technology)

Download PDF of This Page (Size: 181K)

सुख़ियों में क्यों?

• खगोलशास्त्रियों ने दावा किया है कि रहस्यमयी प्लेनेट 9 अपने मूल तारे से हमारे सूर्य दव्ारा 4.5 अरब वर्ष पहले चुरा लिया गया।

• संभवत: सौर मंडल में खोज किया जाने वाला यह प्रथम ब्राह्य ग्रह होगा।

• प्लेनेट 9 सुदूर सौर मंडल में एक विशाल काल्पनिक ग्रह है। इसके गुरुत्वाकर्षण प्रभाव से क्किपर बेल्ट के बाद पड़ने वाले ट्रांस (उस पार) नेप्चून (सूर्य से आठवाँ ग्रह, वरुण) पिंडो के समूह के असम्भाव्य कक्षीय विन्यास को समझाने में आसानी होगी।

क्किपर बेल्ट सौर मंडल में नेप्चून की कक्षा के बाद पड़ने वाला क्षेत्र है। ऐसा विश्वास किया जाता है कि इस क्षेत्र में बर्फ से बने क्षुद्र ग्रह, धूमकेतु और अन्य छोटे पिंड शामिल हैं।

• यह अनुमानित ग्रह एक प्रकार का सुपर (असाधरण)-अर्थ होगा, जिसका अनुमानित द्रव्यमान पृथ्वी के दस गुना होने की संभावना है तथा इसका व्यास पृथ्वी का तीन से चार गुना होगा और इसका कक्ष विशाल दीर्घ वृत्ताकार होगा तथा कक्षीय अवधि 15,000 वर्ष होगी।

Glide to success with Doorsteptutor material for CBSE/Class-9 - get questions, notes, tests, video lectures and more- for all subjects of CBSE/Class-9.

Developed by: