प्न्ब्छ रेड लिस्ट (लाल सूची) (IUCN Red List – Environment And Ecology)

Download PDF of This Page (Size: 181K)

• IUCN की वर्ष 2015 की रेड लिस्ट (लाल सूची)के अनुसार फ़िलहाल भारत में 180 पक्षी प्रजातियों संकटग्रस्त हैं, जबकि पिछले वर्ष यह संख्या 173 थी।

• पंच प्रजातियाँ खतरे से बाहर लास्ट (अंतिम) कॉन्सीमेड (समाप्त) सूची से हटा कर संकटासन्न सूची में शामिल की गई हैं, जोकि प्रजातियों पर बढ़ते खतरे का सूचक है। इन प्रजातियों में नॉर्दर्न लैपविंग (टिटिहिरी) (घास के मैदानों में रहने वाला एक पक्षी) तथा चार अन्य आर्द्र भूमि पक्षी प्रजातियों रेड (लाल) नॉट (नहीं), कर्ल्यु सैंडपाइपर (टिटिहरी), यूरेशियाई ओएस्टरकैचर (सीप पकड़ने वाला) तथा बार-टेल्ड गॉडविट (आरामुखी) शामिल हैं।

• दो अन्य आर्द्र भूमि की पक्षी प्रजातियों हॉर्न्ड (सत्कृत/आदर/सम्मान) ग्रैब (लपकना) तथा कॉमन (साधारण) पोचार्ड को सूची में खतरे से बाहर श्रेणी से निकालकर सुभेद्य प्रजाति श्रेणी में शामिल किया गया है।

• जबकि शीत ऋतु में भारतीय उपमहादव्ीप आने वाले स्टेपी गिद्ध, जोकि घास के मैदानों का एक शिकारी पक्षी (रैप्टर) (हिंसक पक्षीशिकरी) है, को इस सूची में खतरे से बाहर से हटाकर संकटग्रस्त प्रजाति में शामिल किया गया है।

Get unlimited access to the best preparation resource for IAS - Get detailed illustrated notes covering entire syllabus: point-by-point for high retention.

Developed by: