बुजुर्गो के लिए राष्ट्रीय केन्द्र (National Center For Elderly – Social Issues)

Glide to success with Doorsteptutor material for IAS : Get detailed illustrated notes covering entire syllabus: point-by-point for high retention.

Download PDF of This Page (Size: 148K)

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने हाल ही में बुजुर्गो के लिए दो नए राष्ट्रीय प्रौढ़ केन्द्रों की स्थापना को मंजूरी दी हैं।

राष्ट्रीय प्रौढ़ केन्द्र क्या हैं?

• राष्ट्रीय प्रौढ़ केन्द्र बुजर्गो की देखभाल के लिए उत्कृष्टता के अति विशिष्ट केन्द्र हैं।

• ये केंद्र घर पर देखभाल के लिए नियमावली बनायेंगे और बुजुर्गो की देखभाल के क्षेत्र में विशेषज्ञों को प्रशिक्षण देंगे और प्रोटोकॉल (औपचारिक अवसरों के लिए नियमों की व्यवस्था) निर्धारित करेंगे।

• इन केन्द्रों को राष्ट्रीय बुजुर्ग स्वास्थ्य देखभाल कार्यक्रम के तहत स्थापित किया जाएगा।

• बारहवीं पंचवर्षीय योजना के दौरान एक केन्द्र दिल्ली के एम्स में और दूसरा चेन्नई के मद्रास चिकित्सा शास्त्र महाविद्यालय में स्थापित किया जाएगा।

जरा चिकित्सा/देखभाल क्या हैं?

• जरा चिकित्सा/देखभाल के रूप में भी जाना जाता है। यह एक प्रक्रिया है जिसमें बुजुर्गों और शारीरिक या मानसिक विकलांगता वाले लोगों की देखभाल की योजना बनाई जाती है और समन्वय किया जाता है ताकि वे अपनी दीर्घकालिक जरूरतों को पूरा कर सकें, अपने जीवन की गुणवत्ता में सुधार ला सकें और यथासंभव लंबे समय के लिए अपनी स्वतंत्रता की बनाए रख सकें।

उद्देश्य

• बुजुर्गो को विशेष स्वास्थ्य देखभाल प्रदान करना क्योंकि उन पर रोगों का आक्रमण तुलनात्मक रूप से शीघ्र होता है।

• भारत में जरा चिकित्सा में विशेषज्ञता की कमी को समाप्त करना।

• इस क्षेत्र के स्वास्थ्य पेशेवरों को प्रशिक्षण देना।

• जरा देखभाल में अनुसंधान गतिविधियों को बढ़ावा देना।

• बुजुर्गों के लिए 200 बेड (पंलग) वाले चिकित्सा संस्थान स्थापित करना।

Developed by: