UPTET 2 2019 Sanskrit Language – II Question and Answers Previous Paper Part 1

Glide to success with Doorsteptutor material for NSO-Level-2 : get questions, notes, tests, video lectures and more- for all subjects of NSO-Level-2.

Sanskrit Language – II

61. ‘षण्णाम्’ पद मे सन्धि है-

A. श्चुत्व सन्धि

B. ष्टुत्व सन्धि

C. पूर्वसवर्ण सन्धि

D. अनुस्वार सन्धि

ANSWER: B

SOLUTION

षण्णाम् पद में ष्टुत्व सन्धि है।

‘न पदान्ताट्टोरनाम्’ पदान्त में टवर्ग के परे उक्त कार्य नहीं होता है।

लेकिन पदान्त ट के आगे नाम् व नगरी पद रहे तो ष्टुत्व कार्य हो जायेगा।

यथा = षड् + नाम् = षण्णाम्।

षट् + सन्तः = षट् सन्तः।

62. ‘त्रिभुवनम्’ में समास है?

A. बहुव्रीही समास।

B. द्विगु समास।

C. द्वन्द्व समास।

D. अव्ययीभाव समास

ANSWER: B

SOLUTION

‘त्रिभुवनम्’ में द्विगु समास है।

द्विगु समास = जब प्रथम पद संख्यावाची हों और दुसरा पद संज्ञा हो तो उसे समास को ‘द्विगु समास’ कहते है।

उदा- त्रिभुवनम् - त्रयाणां भुवनानां समाहारः।

पञ्चगवम् - पञ्चानां गवां समाहारः।

63. ‘अङ्गना’ का अर्थ है।

A. न जाना ।

B. आँगन।

C. विकलांग।

D. स्त्री।

ANSWER: D

SOLUTION

अङ्गना का अर्थ स्त्री है, अन्य विकल्प युक्तिसंगत नहीं है।

64. ‘मनीषा’ का सन्धिविच्छेदः होगा?

A. मनी + ईशा ।

B. मन् + ईशा ।

C. मनीस् + ईशा ।

D. मनस् + ईशा ।

ANSWER: D

SOLUTION

‘मनीषा’ का सन्धिविच्छेद मनस् + ईशा होता है, मनीषा में पररुप (अच्) सन्धि है।

वार्तिक- ‘शकन्ध्वादिषु पररूपंवाचयम्’ वार्तिक के अनुसार शकन्धु आदि शब्दों में टि और अच् के स्थान पर पररूप सन्धि होती है।

उदा- शक + अन्धुः = शकन्धु

कर्क + अन्धुः = कर्कन्धुः

65. ‘चोरभयम्’ में समास है।

A. इनमें से कोई नहीं।

B. द्वितीया तत्पुरूष।

C. सपतमी तत्पुरूष।

D. पञ्चमी तत्पुरूष।

ANSWER: D

SOLUTION

‘चोरभयम्’ में पञ्चमी तत्पुरूष समास है।

“भयभीतभीतिभीभिरिति वाच्यम्” वार्तिक के अनुसार पञ्चमी विभक्ति अन्त वाले शब्द का, भयवाची शब्दों (भय, भीति, भी, भीत) के साथ पञ्चमी तत्पुरूष समास होता है।

उदा- चौराद् भयम् = चौरभयम्

सिंहाद् भीतीः = सिंहभीतिः

66. ‘मार्तण्ड’ का पर्यायवाची है --

A. चन्द्रचूड

B. निशाकर

C. अंशुमाली

D. सुधांशु

ANSWER: C

SOLUTION

मार्तण्ड का पर्यायवाची अंशुमाली (सूर्य) है ।

जबकि निशाकर और सुधांशु चन्द्रमा के पर्यायवाची शब्द है तथा चन्द्रचूड शिव का पर्यायवाची है।